किताबें वह अनमोल रत्न है, जो नवरत्नों से भी ज्यादा कीमती है

एक मध्यम वर्ग का यात्री सफर के दौरान अपना समय या तो फिल्म देखने में लगता है या फिर कोई गेम खेल लेता है दूसरी ओर बिजनेस वर्ग के अधिकतर लोग अपना समय पुस्तक पढ़ने में व्यतीत करते है , दुनिया के अधिकतर अमीर लोगों की यह सामान्य आदत है ।

एक पुस्तक को पढ़कर, एक अच्छा पाठक न केवल वर्तमान में जीता है, बल्कि वह पुराने समय को भी जीता है एक अच्छी किताब की तुलना एक रोशनी के उस हाउस से की जा सकती है जो मार्ग को रोशन करता है। कई ऐसी पुस्तकें हैं जो सच्चे मार्गदर्शक की तरह अज्ञान के अंधकार को दूर करती हैं। एक अच्छी किताब ज्ञान और प्रेरणा का स्रोत बनती है। ज्यादातर ऐसी किताबें होती है जिससे जीवन के अंधकार को दूर किया जा सकता है।

ओमकारेश्वर ग्राम कोठी की नहाने गई बालिकाएं नहर में डूबी, देखे ताजा खबर

अगर आपने जीवन में कभी कोई पुस्तक पढ़ी है, तो आपको पढ़ने का आनंद और खुशी पता चलेगी। पढ़ने से दिमागी व्यायाम होता है जो आपके दिमाग को सक्रिय और स्वास्थ्य बनाए रखता है रोजाना पुस्तक पढ़ना कहीं अच्छी आदतों में से एक है, यह आपके सोचने की शक्ति को विकसित करता हैं ,कल्पना शक्ति को बढ़ाती है, आपको ज्ञान के विशाल भंडार में गोते लगवाती है, कहा गया है की पुस्तक पढ़ने से आत्मविश्वास बढ़ता है आपका मूड ठीक होता है।पुस्तक पढ़ने की आदत आपके जीवन को एक नया आयाम दे सकती है।

किसी ने कहा है कि किताबें वह अनमोल रत्न है, नवरत्नों से भी ज्यादा कीमती है

अगर हम अपने जीवन में कुछ अच्छी आदतें अपनाना चाहते हैं तो उसमें से पुस्तक पढ़ने की आदत है सबसे पहले होनी चाहिए।अगर आप की रुचि पुस्तक पढ़ने में नहीं है तो इसके लिए आप धीरे-धीरे, थोड़ा-थोड़ा करके, शुरुआत कर सकते हैं। इस तरह एक आदत का जन्म होता है, जो धीरे-धीरे, छोटे कदमों में, जीवन में बड़ा परिवर्तन लाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!