भगवान शिव पर जल क्यों चढ़ाते हैं? चढ़ाने के क्या है फायदे

भगवान शिव को अनेक नामों से पुकारा जाता है, सोमवार के दिन भगवान शिव की विशेष पूजा अर्चना भक्तों द्वारा की जाती है, इतिहास की दृष्टि से देखने पर भी ज्ञात होता है कि भगवान शिव भक्तों में मुख्य आराध्या रहे हैं।सोमवार का दिन भगवान शिव का माना जाता है और इसी दिन व्रत कर भगवान भोलेनाथ से मनचाहा फल प्राप्त करने की कामना की जाती है, कहा जाता है कि भगवान शिव बहुत ही भोले होते हैं मनोकामना पूर्ति के लिए बहुत ही जल्दी मान जाते हैं उन्हें आप एक कलश जल और बेलपत्र चढ़ा कर प्रसन्न कर सकते हैं, आज हम आप सभी को बताने वाले हैं कि आखिर क्यों भगवान शिव के ऊपर जल बेल पत्र इत्यादि चढ़ाया जाता हैइसलिए शिव पर चढ़ाया जाता है जल

दरअसल इसकी कहानी समुद्र मंथन से जुड़ी हुई है
आपने देवताओं और असुरों के बीच में होने वाले समुद्र के मंथन की कहानी सुनी होगी।
समुद्र मंथन के दौरान विभिन्न चीजें निकली थी जिसमें एक हलाहल विष का प्याला भी था, अब इसका प्रभाव इतना विनाशकारी था जिससे संपूर्ण पृथ्वी विनाश की ओर बढ़ने लगी थी।

कोई भी इस विनाशकारी प्रभाव को रोक नहीं पा रहा था ऐसे समय में भगवान भोलेनाथ द्वारा इस हलाहल विश को को अपने कंठ में उतारा गया , इस हलाहल विष के प्रभाव से भगवान शंकर के कंठ का रंग नीला पड़ गया था “
यही कारण है कि तभी से भगवान शिव को नीलकंठ महादेव कहा जाने लगा

अब इसकी बात हुआ यह कि विष के प्रभाव से उनका शरीर अत्यंत गर्म हो गया , गर्मी के प्रभाव से उनके आसपास का वातावरण भी जलने लगा और बेलपत्र विष के प्रभाव को कम करता है और इसलिए देवी-देवताओं ने विष के प्रभाव को कम करने के लिए उन्हें बेलपत्र दिए और भगवान शिव बेलपत्र चबाने लगे।और इस समय उनके सर को ठंडा रखने के लिए उन पर जल भी चढ़ाया गया, और इस प्रकार बेलपत्र और जल के प्रभाव से भगवान भोलेनाथ की शरीर की गर्मी समाप्त हो गई , और तभी से भगवान शिव को बेलपत्र और जल चढ़ाने की परंपरा की शुरुआत हुई।

भगवान शिव पर जल चढ़ाने की यह है लाभ🟠

1👉🏻 बताया जाता है कि शिवलिंग पर जल चढ़ाने से समाज और परिवार में आदर की भावना बनती है, यदि आपका मान सम्मान कम हो रहा है नित्य भगवान भोलेनाथ पर जल जरुर चढ़ाएं।

2 👉🏻 भगवान शिव पर जल चढ़ाने से दिमाग को शीतलता मिलती है, यह नकारात्मक भावों को नष्ट कर देता है, जैसे भगवान शिव पर अब इसके प्रभाव से गर्मी शांत हुई थी उसी प्रकार भगवान शिव पर जल चढ़ाने से आप अपने दिमाग को भी शांत कर सकते हैं

3👉🏻 अगर आप भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करना चाहते हैं तो भगवान को प्रसन्न करने के लिए भी उन पर जल चढ़ाया जाता है।

4👉🏻 यदि आपके जीवन में परेशानियां बाधाएं समाप्त होने का नाम नहीं ले रही है तो आप प्रतिदिन एक लौटा जल शिवलिंग पर चढ़ाएं ऐसा करने से जीवन की बाधाएं और परेशानियां दूर होती है और जीवन में सुख शांति आती है।

5👉🏻 वही शिवलिंग पर जल चढ़ाने से मानसिक और शारीरिक पाप दूर होते हैं, अगर आप अपने पाप कर्मों से मुक्ति चाहते हैं तो नित्य प्रति शिवलिंग को जल जरुर चढ़ाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!