मनोकामना पूर्ण करने वाले शिव अभिषेक,शिवलिंग के विभिन्न अभिषेक के अनेक लाभ

आज 1 मार्च मंगलवार को महाशिवरात्रि का पर्व पूरे देश में धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है,वैसे तो हिंदू धर्म में हर महीने शिवरात्रि मनाई जाती है परंतु फाल्गुन महीने में आने वाली महाशिवरात्रि का विशेष महत्व है।

कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा के अनुसार यदि महाशिवरात्रि के दिन कोई भी महिला व्यक्ति द्वारा या फिर घर का कोई भी सदस्य उपवास रखता है, तो उसे सभी सुखों की प्राप्ति हो जाती है वही व्यक्ति वर्ष भर में अगर कोई उपवास नहीं रखता है और केवल महाशिवरात्रि पर उपवास रखता है तो उसे पूरे वर्षों के व्रतों का पुण्य प्राप्त हो जाता है।

भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना कर कठिन से कठिन कार्य सरल हो जाते हैं और सभी प्रकार के ग्रह आदि बाधाओं से भी मुक्ति पा सकते हैं।

आज के दिन भगवान शिव की चार पहर की पूजा का विधान है,ऐसा कहा जाता है कि इस दिन शिवजी को चारों पहर पूजने से सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं,श्रद्धालुओं द्वारा शिवलिंग का विभिन्न प्रकार से अभिषेक किया जाता है ।

♦️कहा जाता है की शिवलिंग का दुग्ध अभिषेक करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती है,साथ ही स्नान करते समय जल में थोड़ा सा दूध डालकर स्नान करने से चिंताएं और मानसिक विकार दूर होते है।

♦️कहा जाता है कि शिव जी का दही से अभिषेक करके संतान सुख की प्राप्ति होती है साथ ही मकान और वाहन की प्राप्ति भी होती है।

♦️भगवान शिव पर बेलपत्र चढ़ाने से वे प्रसन्न होते हैं और मनोकामना पूर्ति जल्दी करते हैं, मान्यता है कि बेलपत्र भगवान शिव को अत्यंत प्रिय हैं,जिससे वे जल्दी प्रसन्न हो जाते है।

♦️मान्यता है कि घी से अभिषेक करने से स्वास्थ्य और अध्ययन में बढ़ोतरी होती है।

♦️दूध में शक्कर मिलाकर अभिषेक करने सेचीनी व्यक्ति विद्वान बनता है।

♦️भगवान शिव का गन्ने के रस से अभिषेक करने पर अखुट धन वैभव की प्राप्ति होती है।

♦️महाशिवरात्रि पर भगवान शिव का साथ से अभिषेक करने से धन-धान्य में वृद्धि होती है साथ ही पुरानी शरीर की बीमारियां भी नष्ट होती है।

♦️ इत्र से शिवजी का अभिषेक करने से दांपत्य जीवन खुशहाल होता है।

सेंधवा शिव धाम में नवग्रह मंदिर की स्थापना

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!