51 मंदिरों में भजन संध्या का लिया संकल्प,नर्मदा जयंती पर काजल माता मंदिर में हुई भजन संध्या

सेंधवा शहर की श्री साई समर्थ भजन मंडली ने शहर एवम आस पास के 51 मंदिरों में भजन कीर्तन का संकल्प लिया है इसी उपलक्ष में नर्मदा जयंती के अवसर पर काजल माता मंदिर नवलपुरा स्थित कालका माता मंदिर में भजन संध्या की गई। शहर के 2 किमी दूर स्थित यह मां काली का मंदिर बहुत प्राचीन माना जाता है। यहां सर्वप्रथम मां को दीप प्रज्वलित किया गया।उसके पश्चात भजन प्रारंभ किए गए। हिमांशू मालाकार ने बताया मंडली द्वारा शहर एवम आसपास मंदिरों में भजन कीर्तन करने का संकल्प लिया गया। भजनों में हिमांशु मालाकार ने आ मां आ तुझे दिल ने पुकारा, डॉक्टर माधव प्रजापति ने थारो नाम नर्मदा माई तू अमरकंठ सी आई,दिनेश सैनी ने तूने मुझे बुलाया शेरावालिए, बापू हटकर ने मां नर्मदा तू है कलयुग की गंगा, अनूप सैनी ने दुनिया में देव हजारों एवम सोहन चौहान ने मैयाजी तेरी माया भजन गा कर माता के जयकारों के साथ कीर्तन किया। मंदिर के पुजारी मोहन बाबा ने बताया मां कालका का यह मंदिर शहर एवम आस पास क्षेत्र में पहला एवम प्रख्यात मंदिर है यहां माना जाता है की मांगी हर मुरादे माता रानी पूरी करती है। उन्होंने बताया शहर से 2 किमी दूर होने के बाद भी हर मंगलवार खिचड़ी प्रसादी का भंडारा कराया जाता है जिसमे सेकडो श्रद्धालुओं प्रसादी ग्रहण करते है। भजन संध्या में मंडली के हिमांशू मालाकार,डॉक्टर माधव प्रजापति,दिनेश सैनी,अनूप सैनी,बापू हटकर,चेतन सोनी,सोहन चौहान,संदेश जाधव,प्रदीप कुशवाह,कॉलोनी अध्यक्ष कैलाश सेंगर,सूरज सिंगोरिया, शंकर स्वामी,आदि सदस्य उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!