बस्ते के वजन से बच्चो को मिलेगी राहत,नई पॉलिसी हुई लागू

कक्षा 1 से 12 तक के छात्रों के स्कूल बैग का वजन निर्धारित कर दिया गया है।मधयप्रदेश के स्कूलों बच्चों के बच्चों के बढ़ते वजन को देखते हुए नई पॉलिसी लागू की गई है जिसमें अब कक्षा पांचवी तक के बच्चों की बैग का वजन कम किया है।प्राथमिक कक्षा के स्कूलों के बच्चों के बस्तों का वजन ढाई किलो से ज्यादा नहीं हो पाएगा।

साथ ही कक्षा 6टी से 8वीं के बच्चों को हर दिन 1 घंटे का होमवर्क और कक्षा 9वीं से 12वीं तक के बच्चों को दिन 2 घंटे का होमवर्क देना काफी होगा

2019 का आदेश हुआ रद्द

स्कूलों में पहली कक्षा के लिए बस्ते का वजन 1.6 किग्रा, दूसरी कक्षा के लिए 1.6-2.2 किग्रा, तीसरी कक्षा के लिए1.7-2.5 किग्रा,चौथी कक्षा के लिए 1.7-2.5 किग्रा,पांचवी कक्षा के लिए 1.7-2.5 किग्रा रहेगा।नई पॉलिसी आने के बाद से स्कूल शिक्षा विभाग ने साल 2019 के आदेश को कैंसल कर दिया है। इसमें विशेष बात यह है कि कक्षा दूसरी तक के बच्चों को होमवर्क नहीं मिलेगा। कक्षा आठवीं से दसवीं तक के बच्चों के बस्ते का वजन 2.5 से 4.5 किलोग्राम तक रखना होगा।

सप्ताह में एक दिन बैग नहीं

वही सप्ताह में 1 दिन बच्चों को बिना बस्ते के विद्यालय बुलाना होगा। इसके अलावा सभी स्कूलों को नोटिस बोर्ड पर बस्ते के वजन का चार्ट भी लगाना अनिवार्य होगा। यह नियम मध्यप्रदेश के सभी स्कूलों पर लागू होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!