राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर शासकिय महाविद्यालय निवाली में इंडक्शन प्रोग्राम

निवाली। शासकीय महाविद्यालय निवाली में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अन्तर्गत नवीन प्रवेशित विद्यार्थियों को विस्तृत जानकारी देने के उद्देश्य से कालेज में एक सप्ताह इंडक्शन कार्यक्रम प्रारंभ हो गया है आज़ प्रथम दिवस में विषय चयन मैजर, माईनर, ओपन इलेक्टिव, वोकेशनल एवं फील्ड प्रोजेक्ट की जानकारी प्रो जी आर मोरे एवं प्रो पी एस बरडे ने जानकारी दी।

नन्हे-मुन्ने बच्चों के बीच मनाया रेनी डे, रंग-बिरंगे छातो से बनाए इंद्रधनुष खबर देखने के लिए क्लिक करें

यहां अधिकांश विद्यार्थी ग्रामीण क्षेत्रों से है ऐसे में अपने करियर को अच्छे से संवारने के लिए विषय चयन महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि स्नातक में चयनित विषयों में से ही किसी एक विषय के स्नातकोत्तर कर सकते हैं . राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत स्नातक कोर्स अब चार वर्षीय हो गया है प्रथम वर्ष में सर्टिफिकेट, द्वितीय वर्ष में डिप्लोमा, तृतीय वर्ष डिग्री एवं चतुर्थ वर्ष डिग्री विथ रिसर्च के रूप में प्राप्त होंगे।

अब यह भी प्रावधान है कि विद्यार्थी चाहें तो स्नातक कोर्स बीच में छोड़ सकता है,उसे उतने ही वर्ष के परिणाम स्वरूप सर्टिफिकेट, डिप्लोमा या डिग्री मिल सकेगी। अलग अलग वर्षों के अलग अलग क्रेडिट ग्रेड निर्धारित है , राष्ट्रीय शिक्षा नीति विद्यार्थियों के सम्पूर्ण व्यक्तित्व विकास को ध्यान में रखते हुए जाब ओरिएंटेड है जिसमें करियर के बहुआयामी विकल्प खुले हैं।

इससे पूर्व महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डॉ के.तावडे ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति का परिचय दिया । इस अवसर पर महाविद्यालयीन स्टाफ एवं अनेक छात्र छात्राएं उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!