खरगोन पुलिस ने 72 घण्टों में युवक के अंधे कत्ल का किया पर्दाफाश

युवक की हत्या में शामिल 02 आरोपी गिरफ्तार, आरोपियो से एक मोटर सायकल की जप्त

02 सितंबर को थाना मेनगांव पर सूचना प्राप्त हुई कि इंदौर रोड़ शासकीय स्कूल के पीछे मेला ग्राउण्ड पशु बाजार सुखपुरी के पास 01 व्यक्ति का शव पडा हुआ है। सूचना के प्राप्त होते ही पुलिस टीम को तत्काल मौके पर रवाना किया गया।

पुलिस टीम द्वारा घटना स्थल का निरीक्षण किया तो मृतक के गले में धारदार हथियार से चोट के निशान पाये गये जहां से खून निकल रहा था। मृतक के जेब की तलाश लेते उसके जेब से पर्स मिला जिसमें से उसकी पहचान-पत्र के आधार पर शव गणेश पिता भोलाराम उम्र 45 वर्ष निवासी छोटी खरगोन महेश्वर का होना पाया गया ।सूचना पर से थाना मेनगांव पर मर्ग क्रमांक पंजीबद्ध कर जाँच में लिया गया। मृतक के कपडो व हाथों पर भी खून लगा था। मौके पर ही एफएसएल खरगोन के वैज्ञानिक अधिकारी श्री सुनील मकवाना द्वारा भी निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण से मृतक की मृत्यू संदिग्ध परिस्थितियों से होना प्रतीत हो रही थी। जिस पर से अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध थाना मेनगांव पर हत्या की धारा में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया।मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस महानिरीक्षक इंदौर ग्रामीण झोन श्री राकेश गुप्ता व पुलिस उप महानिरीक्षक निमार रेंज खरगोन श्री तिलक सिंह द्वारा मामले की लगातार मॉनिटरिंग की जाकर आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराए गए। इसी क्रम में पुलिस अधीक्षक खरगोन श्री धर्मवीर सिंह के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक खरगोन श्री जितेन्द्र सिंह पंवार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) श्री मनीष खत्री एवं अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) अनुभाग खरगोन श्री राकेश मोहन शुक्ल के मार्गदर्शन एवं थाना प्रभारी मेनगांव दिनेश कुशवाह के नेतृत्व मे पुलिस टीम का गठन कर हत्या के आरोपी को शीघ्र से शीघ्र गिरफ़्तारी कर प्रकरण का खुलासा करने हेतु निर्देशित किया गया

गठित पुलिस टीम द्वारा वरिष्ठ अधिकारीगणों के निर्देशानुसार लगातार घटना दिनांक वाली रात को मृतक के आने जाने वाले रास्तो के सीसीटीव्ही फुटेज एकत्रित कर सूक्ष्मता से उन्हे देखा गया। मृतक के संबंध में प्राप्त सम्पूर्ण सीसीटीव्ही फुटेजों में कोई संदिग्ध व्यक्ति नजर नहीं आया। इसके पश्चात मृतक गणेश के जीजा जगदीश निवासी गोगांवा से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि घटना दिनांक वाली रात गणेश मेरे घर ही आने वाला था। जिससे मैंने रात करीबन 9.30 बजे बात की ओर पूछा कि कब तक घर आओगे तो गणेश ने कहा था कि मैं अभी नवग्रह पुल खरगोन पर हूं मुझे परवेज भाईजान मिल गये हैं। उनके साथ पार्टी करूंगा उसके बाद गोगावां आ जाउंगा।

मृतक गणेश के जीजा जगदीश द्वारा बताई गई बात के आधार पर गठित पुलिस टीम व मुखबीर को घटनास्थल व उसके आसपास के इलाकों में परवेज नाम के व्यक्ति को तलाश कर जानकारी एकत्रित करने के लिए लगाया गया। जिसके परिणामस्वरूप विश्वसनीय मुखबीर द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि घटना दिनांक से ही परवेज पिता वाहिद मुसलमान व रियासत पिता बाबु खां मुसलमान की गतिविधियां संदीग्ध नजर आ रही हैं। इन पर नजर रखने की जरूरत हैं। तत्पश्चात पुलिस टीम द्वारा परवेज मुसलमान व रियासत मुसलमान पर लगातार नजर रखी गई। पूर्ण विश्वास होने पर दोनो को पुलिस हिरासत में लेकर पृथक-पृथक मनोवैज्ञानिक तरिके से पूछताछ की गई तो दोनों द्वारा गणेश की हत्या करना स्वीकार कर लिया गया।

हत्या का था ये कारण

दोनो आरोपियों ने पूछताछ में बताया गया कि घटना के दिन गणेश हमें मिला था जिसने हम दोनों से बातचीत की और साथ में शराब पीने के लिये कहा। इसके बाद हम लोगों ने साथ मिलकर मेला ग्राउंड पर साथ में शराब पी।

कुछ देर बाद शराब के नशे में गणेश गाली गलोज कर परवेज व रियासत से विवाद करने लगा। विवाद में गणेश की परवेज व रियासत ने मिलकर मारपीट कर उसे बेसुध कर दिया गया। उसके बाद दोनों वहां से फरार हो गये। कुछ देर बाद परवेज व रियासत ने आपस में बातचीत की कि गणेश जब होश में आयेगा तो वह दोनों का नाम लेकर उन्हे थाने में बंद करवा देगा। इसके बाद दोनों योजनाबध्द तरीके से चाकु लेकर गणेश के पास दोबारा पहुंचे जहां गणेश शराब के नशे में तथा मारपीट की वजह से बेसुध पडा था। उसके सिर व गले में चाकुओं से वार कर उसकी हत्या कर वहां से फरार हो गये।

परवेज व रियासत को गिरफ्तार कर जप्त की सामग्री

पुलिस ने घटना में शामिल परवेज पिता वाहिद मुसलमान उम्र 30 साल निवासी दामखेडा कॉलोनी खरगोन और रियासत पिता बाबु खां मुसलमान उम्र 45 साल निवासी पाला बाजार तालाब चौक खरगोन को गिरफ्तार किया है। वहीं आरोपियों से पुलिस ने एक मोटर सायकल क्र एमपी 11 एमआर 0559 जिक्सर नीले रंग की जप्त की गई हैं तथा घटना में प्रयोग किया गया हथियार अनुसंधान में आरोपिगणों की निशादेही पर पृथक से जप्त किया जाएगा।कार्यवाही में गठित टीमकार्यवाही में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) श्री मनीष खत्री एवं अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) खरगोन श्री राकेश मोहन शुक्ल के मार्गदर्शन व थाना प्रभारी मेनगांव दिनेश कुशवाह एवं थाना प्रभारी मेनगांव श्री दिनेश कुशवाह के नेतृत्व मे चौकी प्रभारी जेतापुर उनि श्री प्रवीण आर्य, उनि. दीपक तलवारे, सउनि महबुब खान, सउनि दिलीप ठाकरे, प्रआर. मनमोहन बघेल, प्रआर भजनसिंह सोलंकी, प्रआर. रविन्द्र, प्रआर. रोहितदास, आर. 933 तवर राठौड़, आर. बृजेन्द्र, आर. प्रवीण, आर. पवन शुक्ला, आर. रविन्द्र जाधव, आर. श्याम पंवार, आर. सतीश, आर. राजेश, आर. सचिन चौधरी, आर संतोष शुक्ला, आर रामसेवक गुर्जर, आर. लच्छीराम एवं एफएसएल खरगोन के वैज्ञानिक अधिकारी श्री सुनील मकवाना व पुलिस अधीक्षक कार्यालय से उनि सुदर्शन कलोसिया, उनि दीपक यादव, प्रआर आशीष अजनारे, आर.275 अभिलाष डोंगरे, आर 10 मगन, आर 238 विजयेन्द्र, आर. सोनू का विशेष योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!