सेंधवा में प्री मानसून की बरसात से नालियों का पानी घरों में घुसा

सेंधवा में प्री मानसून की बरसात से ही शहर के कई मार्गो में समस्याएं खड़ी हो गई है जिसके अंतर्गत सेंधवा वार्ड क्रमांक 5 में नाली का निर्माण करवा कर वार्ड 3 में लाकर अधूरा छोड़ दिया गया जिससे प्री मानसून की पहली बारिश में ही नाले का गंदा पानी सड़क से होते हुए रहवासियों के घरों के अंदर पहुंच गया।

रहवासियों ने बताया इस नाली का टेंडर भी पास हो गया है मगर अभी तक नाली का निर्माण नहीं करवाया गया जिससे उक्त समस्या बनी हुई है। लोगो ने बताया बारिश में और भी प्रेषर बड़ सकता है। उन्होंने संबंधित विभाग एवम नगर पालिका जल्द से जल्द नाली का निर्माण करवाने का आग्रह किया है।

खरगोन जिले की तीन तहसीलों में हुई वर्षा

जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे में जिले की तीन तहसीलों में वर्षा दर्ज की गई। इस दौरान खरगोन में 6.8 एमएम एवं सेगांव में तहसील में 6 एमएम तथा झिरन्या तहसील में 1 एमएम वर्षा दर्ज की गई है। इस तरह पिछले 24 घंटे में जिले की तीन तहसीलों में 13.8 एमएम वर्षा दर्ज की गई है।

भू-अभिलेख कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे में जिले की भगवानपुरा तहसील में सबसे अधिक 26 मिमी वर्षा दर्ज की गई। इस तरह कसरावद तहसील 5 मिमी, गोगांवां और महेश्वर तहसील में 4-4 मिमी, खरगोन में 3.4 मिमी, बड़वाह एव सनावद तहसील में 2.2-2.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। इस तरह पिछले 24 घण्टे में जिले की सात तहसीलों में 46.8 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। जिले में 01 जून से आज दिनांक तक कुल 60.6 मिमी वर्षा दर्ज की जा चुकी है।

आवासीय क्षेत्र में बिना अनुमति के बना भवन और दुकानें अवैध निर्माण घोषित

खरगोन। शहर में अवैध कॉलोनी के आवासीय क्षेत्र में बिना नगर पालिका की अनुमति के निर्माणाधीन भवन को नगर पालिका सीएमओ श्रीमती प्रियंका पटेल ने नगर पालिका अधिनियम 1961 की धारा 187 के तहत अवैध घोषित किया है। अवैध घोषित करने के बाद नपा द्वारा 11 जून शनिवार को सम्बंधित भवन के पास बोर्ड भी लगाया गया है।

जानकारी देते हुए सीएमओ श्रीमती पटेल बताया कि शहर के वार्ड 14 के आवासीय क्षेत्र अंजुमन नगर में अंजुमन स्कूल के सामने श्री ताज मोहम्मद पिता हाजी मोहम्मद द्वारा अवैध कॉलोनी की भूमि पर बिना अनुमति के भवन निर्माण कार्य किया जा रहा था। निर्माण कार्य के सम्बंध में 23 मई को वैध अभिलेख प्रस्तुत करने का अवसर दिया गया था। श्री ताज मोहम्मद द्वारा दिये गए जवाब में सिर्फ टैक्स रसीद और रजिस्ट्री की प्रति प्रस्तुत की गई।

प्रस्तुत टैक्स रसीद का परीक्षण राजस्व शाखा द्वारा करवाया गया। राजस्व शाखा ने रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए बताया कि यह रसीद निर्माणाधीन भवन की न होकर पास ही के पूर्व से निर्मित भवन की है और 20378 रुपये टैक्स सम्बंधित बकाया भी है। साथ ही रिपोर्ट में सामने आया कि संबंधित द्वारा भूमि का नामांतरण भी नहीं कराया गया है।15 दिनों का दिया समय प्रस्तुत नहीं किए वैद्य दस्तावेजनगर पालिका सीएमओ ने बताया कि श्री ताज मोहम्मद को निकाय द्वारा 3 जून 22 को पहली बार और 4 जून को दूसरी बार पत्र जारी कर समक्ष में उपस्थित होकर पक्ष रखने का अवसर प्रदान किया गया था। लेकिन वे समक्ष में उपस्थित हुए बिना नियत समय के पश्चात अधिवक्ता द्वारा वकालत नामा प्रस्तुत किया गया।

ताज मोहम्मद द्वारा 30 मई को दिए जवाब में कॉलोनी की वैधता, भवन निर्माण सहित अन्य वैध अभिलेख प्रस्तुत नहीं किये गए। इसके बाद नगर पालिका अधिनियम 1961 की धारा 187 का उल्लघंन किया गया। इसके बाद नपा द्वारा बोर्ड लगाकर अन्य नागरिकों को भी सूचित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!