संत सिंगाजी समाधि स्थल पर तीन दिवसीय निमाड़ उत्सव 8 नवंबर से

खंडवा। मध्यप्रदेश शासन, संस्कृति विभाग द्वारा प्रतिवर्ष महेश्वर जिला खरगोन में कार्तिक पूर्णिमा पर आयोजित पारंपरिक कलाओं का समारोह निमाड़ उत्सव इस वर्ष से निमाड़ अंचल के नर्मदा किनारे के तटों/कस्बों में आयोजित किये जाने की श्रृंखला का आरंभ किया गया है। इस वर्ष समारोह संत सिंगाजी समाधि स्थल जिला खंडवा में कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर 8 से 10 नवंबर तक जिला प्रशासन खंडवा के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है।

समारोह की तैयारियों के लिये विभाग एवं जिला प्रशासन के अधिकारियों द्वारा कार्यक्रम स्थल मेला ग्राउंड संत सिंगाजी धाम का अवलोकन कर मैदान की साफ-सफाई और अन्य आवश्यक कार्यों को संपादित करने के निर्देश प्रदान किये गये हैं। समारोह का शुभारंभ 8 नवंबर,2022 को माँ नर्मदा की सांगितिक आरती से होगा। मध्यप्रदेश शासन संस्कृति विभाग द्वारा इस अवसर पर राष्ट्रीय देवी अहिल्या सम्मान जबलपुर की ख्यात भक्ति गायिका सुश्री संजो बघेल को एवं राष्ट्रीय तुलसी सम्मान देवास के ख्यात निर्गुणी गायक श्री कालू राम बामनिया को प्रदान किया जायेगा।

साथ ही ये दोनों कलाकार अपनी प्रस्तुति भी देंगे। समारोह के दूसरे दिन 9 नबंवर,2022 को संत सिंगाजी के निर्गुण पदों का गायन, गणगौर नृत्य, गोण्ड जनजाति का ठाठ्या नृत्य, उड़ीसा का गोटीपुआ नृत्य तथा नर्मदा महिमा केंद्रित नृत्य नाटिका की प्रस्तुति होगी। समारोह के समापन दिवस 10 नवंबर,2022 को गणगौर नृत्य, मां शिप्रा नदी की महिमा केंद्रित नृत्य नाटिका के साथ ही जनपदीय काव्य पाठ का आयोजन होगा। जिसमें निमाड़ी बोली के लगभग 10 कवि हिस्सेदारी करेंगे।

डेंटल एक्सरे सुविधा एवं दांतों की सड़न का रूट कैनाल उपचार उपलब्ध

जिला अस्पताल खण्डवा की डेंटल यूनिट में अब आधुनिक तकनीक द्वारा डेंटल एक्सरे सुविधा एवं दांतों की सड़न का रूट कैनाल उपचार उपलब्ध है। सिविल सर्जन डॉ. ओ.पी. जुगतावत ने बताया कि रूट कैनाल उपचार द्वारा दांतो को सड़न के पश्चात होने वाले दर्द और संक्रमण से बचा कर दांत की आयु बढ़ाई जा सकती है। उच्च शर्करा और पैकेट वाले खाद्य सामग्री के सेवन तथा मुख की सफाई की बेपरवाही के कारण दांतों में सड़न के रोगियों की संख्या बढ़ रही है l इससे बच्चे भी अछूते नहीं हैं।

उन्होंने बताया कि शासन द्वारा बच्चों के मुख स्वास्थ्य में विशेषज्ञ (पेडोडॉन्टिस्ट), रूट कैनाल उपचार में विशेषज्ञ (एंडडोडोंटिस्ट) एवं ओरल मैक्सिलो फेशियल सर्जन जैसे बन्धित चिकित्सकों की नियुक्ति से दंत रोगियों को आधुनिक सेवाएं उपलब्ध होगी। सिविल सर्जन डॉ. जुगतावत द्वारा बताया गया कि विगत कुछ माह के दंत रोगियों को लगभग 260 आर.वी.जी. और 60 रूट कैनाल उपचार की सुविधा उपलब्ध हुई। यहां पर 4 नियमित दंत रोग विशेषज्ञ है, जिसमें डॉ राकेश रेवारी , डॉ. जी.एस. छाबड़ा, डॉ सुजीत वर्मा एवं डॉ. स्वीटी तिर्की शामिल है। इसके अलावा 5 बंद पत्र डेंटल सर्जन एम.डी.एस. की उपाधि प्राप्त है। उन्होंने सभी डेंटल मरीजों से अपील की है कि वे जिला चिकित्सालय खंडवा में आकर इन सुविधाओं का लाभ ले सकते हैं l

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!