बिना टैक्स चुकाएं सड़क पर दौड़ रहे तीन यात्री वाहनों को किया जप्त

परिवहन विभाग के अमले ने गुरूवार को जांच के दौरान बिना टैक्स चुकाएं सड़क पर दौड़ रही तीन यात्री वाहनों को जप्त किया है। परिवहन अधिकारी श्रीमती बरखा गौड ने बताया कि जांच के दौरान जप्त की गई यात्री वाहनों के संचालकों द्वारा बसों का टैक्स नहीं चुकाया गया था। अमले द्वारा जब्त की गई तीन यात्री वाहनों में महाराष्ट्र की अमन बस वाहन क्रमांक एमएच 14 सी डब्ल्यू 3230 पर 3 लाख 49396 रूपये टैक्स बकाया है।

इसके अलावा भाटिया यात्री बस वाहन क्रमांक एमपी 09 एफ ए 2246 पर 1,63,200 रूपये टैक्स तथा अग्रवाल बस वाहन क्रमांक एमपी 10 पी 1573 के संचालक द्वारा 64200 रूपये का बकाया टैक्स नहीं चुकाया गया है। साथ ही विभाग ने बस संलालकों को हिदायद दी है कि बसों बकाया रहा टैक्स चुकाएं अन्यथा कार्यवाही की जाएगाी।

जेल से आने के बाद स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का तीर्थ यात्री की भांति हुआ स्वागत

जिले के स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों को नमन श्रृंखला

देश की स्वतंत्रता के लिए असंख्य स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने तिरंगे की खातिर संग्राम किया था। तब कही जाकर हम आजादी की 75 वी वर्षगांठ मना पा रहे हैं। वास्तव में ऐसे स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को सच्ची श्रद्धांजलि देने का भी अवसर अमृत महोत्सव है। 75 वी वर्षगांठ पर हम अपने अपने घरों पर सिर्फ एक तिरंगा लहराए। इसके लिए हम सब उन तमाम शहीदों का सच्चा सम्मान कर सकते है। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी को नमन श्रृंखला में आज याद करते है श्री मिट्ठूलाल जैन के संग्राम के बारे में।

श्री मिठूलाल जैन का जन्म 10 फरवरी 1922 को कच्छ के नारायणपुर में नैनसी भाई जैन के घर हुआ था। पढ़ाई के मकसद से आप मुंबई चले आये। शिक्षा पूर्ण होने के बाद गुजरात से कारोबार के लिए आप खरगोन आ गए। क्योंकि खादी और गुजरात में गाँधीजी से सीधा संपर्क तो था ही और आप उनसे काफी प्रभावित थे। निमाड़ में आप श्री विश्वनाथ खोड़े से संपर्क में आये और 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाकर गतिविधियां तेज कर दी। जगह-जगह विदेशी कपड़ों की होली जलाने के विरोध में ब्रिटिश सरकार ने आपको धारा 126/12 के अंतर्गत गिरफ्तार कर लिए गया। गिरफ्तारी के बाद आपको खरगोन थाने में रखा गया।

इसके बाद मण्डलेश्वर जेल फिर सेंधवा इसके बाद सेंधवा के ही खुरमपुरा में पुलिस कस्टडी के बाद आपको मानपुर जेल भेजा गया। कैदखाने में आपने अपने साथियों के साथ ब्रिटिश शासन का विरोध बनाये रखा। जेल में ही प्रार्थना करना, आज़ादी के गीत गाना और चरखा चलाने जैसी गतिविधियां जारी रखी। जेल से रिहा होने के बाद जब आप वापस खरगोन पहुँचे तो जनता ने आपका स्वागत तीर्थ यात्री के रूप में किया।

खण्डवा के गौरव दिवस अवसर पर निमाड़ के गौरव एवं संस्कृति पर झांकी का चल समारोह आयोजित

खंडवा। पार्श्व गायक स्व. किशोर कुमार की जयंती के अवसर पर खण्डवा का गौरव दिवस मनाया जा रहा है। इसके अंतर्गत आज शहर में जगह-जगह स्व. किशोर कुमार के द्वारा गाये गये गाने बजाए जा रहे है। गौरव दिवस अवसर पर आज नगर पालिक निगम खण्डवा से झांकियों का चल समारोह निकाला गया। चल समारोह में सर्वप्रथम दादाजी धुनिवाले की झांकी, संत सिंगाजी महाराज की झांकी, ओंकारेश्वर ज्योर्तिलिंग मंदिर ट्रस्ट की झांकी, जिसमें द्वादश ज्योर्तिलिंग एवं नंदी की झांकी शामिल थी। इसके अलावा काठी नृत्य, कोरकू नृत्य, गणगौर नृत्य तथा विठ्ठल मंदिर खण्डवा की झांकी एवं नृत्य तथा स्व. किशोर कुमार की झांकी का आयोजन किया गया।

झांकी को कलेक्टर श्री अनूप कुमार सिंह तथा पुलिस अधीक्षक श्री विवेक सिंह द्वारा श्री दादाजी धुनिवालों के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर नगर पालिक निगम से रवाना किया गया, जिसका चल समारोह घण्टाघर, रेल्वे स्टेशन, कहारवाड़ी, बजरंग चौक होते हुए पुनः नगर पालिक निगम पहुंचा।

चल समारोह में संत सिंगाजी महाराज के भजन जीवनलता खेड़े एवं उनकी भजन मंडली द्वारा गाये। चल समारोह में वन मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह, खण्डवा विधायक श्री देवेन्द्र वर्मा, महापौर श्रीमती अमृता यादव, नगर निगम आयुक्त श्रीमती सविता प्रधान गौड़, एसडीएम श्री अरविंद चौहान सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण एवं गणमान्य नागरिक भी मौजूद थे। कार्यक्रम के अंत में विधायक श्री वर्मा एवं महापौर श्रीमती यादव द्वारा सभी कलाकारों को धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन श्री प्रफुल्ल मण्डलोई द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!