शालेय संभाग स्तरीय ताइक्वांडो प्रतियोगिता में एजुकेशन पार्क स्कूल के ताइक्वांडो खिलाडियों ने जीते 2 स्वर्ण ,6 रजत पदक


खरगोन। शालेय संभाग स्तरीय 14 एवं 17 आयु वर्ग ताइक्वांडो प्रतियोगिता का आयोजन एमराल्ड हाइट्स इंटरनेशनल स्कूल में संपन्न हुआ।जिसमे खरगोन जिले का प्रतिनिधित्व करते हुए एजुकेशन पार्क स्कूल के 13 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया।प्रशिक्षक अंतर्राष्ट्रीय ताइक्वांडो स्वर्ण पदक विजेता सावन प्रजापत ने बताया प्रतियोगिता में 6( इंदौर, धार,खंडवा,बुरहानपुर,बड़वानी,खरगोन)जिलों के 200 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया जिसमे खिलाड़ियों द्वारा निम्न आयु वर्ग में 2 स्वर्ण पदक,तथा 6 रजत पदक हासिल किए गए।

पदक विजेता खिलाड़ियों के नाम इस प्रकार है स्वर्ण पदक जीतने वाले खिलाड़ी, प्रदुम्न चंदेल 18 से 21 किलोग्राम वर्ग ,वैष्णवी राठौड़ 18 से 20 किलोग्राम वर्ग।

रजत पदक हासिल करने वाले खिलाड़ी प्रिंस पीपल्दे 27 से 29 किलोग्राम वर्ग,ऋषिका चौहान 26 से 29 किलोग्राम वर्ग,आर्यन जैन 38 से 41 किलोग्राम वर्ग, तथा चेरिल आर्य 29 से 32 किलग्राम वर्ग,विवेक डोंगरे 41 से 45 किलोग्राम वर्ग,सुजल जायसवाल 49 से 51 किलोग्राम वर्ग में पदक जीते ।खिलाड़ियों की इस उपलब्धि पर स्कूल संचालक श्री राजेंद्र सोलंकी,प्राचार्य श्री आशीष पंवार,समस्त शिक्षको द्वारा बधाई शुभकामनाए प्रेषित की।

हॉस्पिटल की लापरवाही ने ले ली बिटिया की जान

झिरन्या।हॉस्पिटल में आक्सीजन सिलेंडर नहीं होने से हुआ निधन आज सिख समाज में एक बेटी की अचानक तबीयत खराब होने से उसे सरकारी हॉस्पिटल लाया गया और तबीयत ज्यादा बिगड़ने से उसको ऑक्सीजन सिलेंडर की जरूरत पड़ी लेकिन हॉस्पिटल में ना तो ऑक्सीजन सिलेंडर और ना ही एंबुलेंस मौजूद थी इस बीच ज्यादा तबीयत बिगड़ी और डॉक्टरों द्वारा बच्ची को मृत घोषित कर दिया गया। वही लोगों द्वारा कहा गया की जिम्मेदारों को हॉस्पिटल की कोई सुध नहीं है ऑक्सीजन सिलेंडर मौजूद है या नहीं।

इस दौरान सिख समाज द्वारा हॉस्पिटल की सेवाओं की घोर निंदा की गई,साथ ही समाज के सभी समाज जनों ने बिटिया के निधन पर रोष व्यक्त किया,उन्होंने कहा कि आक्सीजन सिलेंडर होता तो जान बच सकती थी।

झिरन्या सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में घटित घटना की एसडीएम को जांच के आदेश

वही झिरन्या सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में गत दिवस घटित हुई घटना में कलेक्टर श्री कुमार पुरुषोत्तम ने दिए जांच के आदेश। भीकनगांव एसडीएम शिराली जैन को जांच के लिए किया नियुक्त। एसडीएम को 3 दिनों में जांच पूरी कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश।

झिरनिया से रमन भाटिया की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!