शिक्षक अशोक जोशी माध्यमिक विद्यालय डोंगरगांव 31जुलाई को अपनी 34 साल की शासकिय सेवा कर सेवा निवृत्त हुये

खरगोन जिले से करीब 35 किलोमीटर दूर डोंगरगांव में अशोक जोशी शिक्षक माध्यमिक विद्यालय डोंगरगांव जिला खरगोन से 31जुलाई को अपनी 34 साल की शासकिय सेवा कर आज सेवा निवृत्त हुये।

इस अवसर पर जन शिक्षा केन्द्र शा. उ.मा.वि. लोनारा व हाईस्कूल डोंगरगांव के शिक्षकों ने भावभिनी विदाई दी। श्री दिलीप करपे विकास खंड शिक्षा अधिकारी कसरावद मुख्य अतिथि व श्री राजेन्द्र चौहान पचार्य लोनारा तथा श्री दिलीप साँवले पचार्य डोंगरगांव व सरपंच मुकेश पाटीदार , निर्मल कुमार गुप्ता सर , रमेश पाटीदार ,प्रेमचंद पाटीदार, उपस्थित थे।

आदिवासी उत्कृष्ट कन्या छात्रवास स्वास्थ्य परीक्षण शिविर

झिरन्या। सिनर्जी संस्थान के द्वारा एवं एस. बी.आई फाउंडेशन के सहयोग से खरगोन जिले के झिरन्या ब्लॉक के 20 गावो मे संजीवनी वहिकल प्रोग्राम चलाया जा रहा है।जिसके अंतर्गत आज आदिवासी उत्कुष्ट कन्या छात्रवास स्वास्थ्य परीक्षण शिविर के लिए डॉक्टार सुनील चौहान BMO सर के आदेश अनुसार स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया जिसने 44 बालिकायों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया व 35 सिकल सॉल्यूबिलिटी जांच की गई जिसमे 08 बालिकाओं की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

सुनीता राठौड़ के द्वारा बालिकाओं को सिकल सेल एनिमिया व संजीवनी प्रोग्राम के बारे मे विस्तार से बताया गया सिकल-सेल रोग (SCD) या सिकल-सेल रक्ताल्पता या ड्रीपेनोसाइटोसिस एक आनुवंशिक रक्त विकार है जो ऐसी लाल रक्त कोशिकाओं के द्वारा चरितार्थ होता है जिनका आकार असामान्य, कठोर तथा हंसिया के समान होता है। यह क्रिया कोशिकाओं के लचीलेपन को घटाती है जिससे विभिन्न जटिलताओं का जोखिम उभरता है।

डॉक्टर श्याम राय सर ने बताया की सिकल सेल एनिमिया के क्या – क्या लक्षण होते हैजोड़ो मे दर्द होना,हाथ परो मे सूजन ,खुन की कमी,बार- बार बुखार अना,पीलिया होना,आदि समस्या होती है।फार्मासिस्ट अमित जायसवाल सर ने बालिकाओं को बताया की एनिमिया क्या होता है एनीमिया का अर्थ है, शरीर में खून की कमी। हमारे शरीर में हिमोग्लोबिन एक ऐसा तत्व है जो शरीर में खून की मात्रा बताता है। पुरुषों में इसकी मात्रा 12 से 16 प्रतिशत तथा महिलाओं में 11 से 14 के बीच होना चाहिए।

आइए पढ़ें खास बातें

जब शरीर में आरबीसी की मात्रा कम होने लगती है, तो शरीर में ऑक्सीजन भी घटने लगती है और नया खून बनना बाधित हो जाता है. इसी समस्या को खून की कमी या एनीमिया या रक्ताल्पता भी कहा जाता है।डॉक्टर सुनील चौहान BMO सर,डॉक्टर गोविंद दुड़वे MO, फार्मासिस्ट अमित जयसवाल , छात्रवास संचालन सपना कोचले मैडम ,सिनर्जी टीम डॉक्टर श्याम राय,LT रोशन सोलंकी, फार्मासिस्ट प्रकाश अवस्थी,सुनीता राठौड़, आदि उपस्थित रहे।

रमन भाटिया की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!