प्रथम चरण में वोट डालने वालो में दिखा भारी उत्साह,प्रथम चरण में कई स्थानो पर तीन बजे के बाद भी चलता रहा मतदान

बड़वानी। त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन के प्रथम चरण में विकासखण्ड सेंधवा एवं पानसेमल की ग्राम पंचायतो में शनिवार 25 जून को हुये मतदान में मतदाताओ का उत्साह देखने लायक था । प्रातःकाल से ही मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं की लंबी-लंबी लाईने लग गई थी, जो दिनभर चलती रही। मतदान हेतु निर्धारित दोपहर 3 बजे कि पश्चात् भी कई मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं की लाईन वोट डालने हेतु लगी रही। जिसके कारण कार्यपालिक मजिस्ट्रेट एवं सेक्टर अधिकारियों की उपस्थिति में लाईन में लगे मतदाताओं को पीछे से टोकन देकर मतदान की प्रक्रिया को जारी रखा गया।

कलेक्टर श्री शिवराजसिंह वर्मा एवं पुलिस अधीक्षक श्री दीपक कुमार शुक्ला तथा निर्वाचन आयोग के प्रेक्षक श्री प्रभात कुमार वर्मा ने पूरे दिन क्षेत्र में घूम-घूमकर मतदान की प्रक्रियाओं का निरीक्षण किया। वही सेक्टर एवं कार्यपालिक मजिस्ट्रेट तथा पुलिस पदाधिकारियों ने भी अपनी उपस्थिति क्षेत्र में सतत् बनाये रखी। जिससे मतदान प्रक्रिया शांतिपूर्ण रूप से संचालित होती रही।

कई मतदान केन्द्रों पर बांटे गये 300 से अधिक टोकन प्रथम चरण के मतदान के दौरान विकासखण्ड सेंधवा एवं पानसेमल के कई ऐसे मतदान केन्द्र थे, जहां पर 300 से अधिक टोकन वितरित किये गये। इसमें विकासखण्ड सेंधवा के ग्राम नकटीरानी में 312, हिंगवा में 300, चिथरई में 273, झोपाली में 260 तो सेमलिया एवं गोई में क्रमशः 5 एवं 4 टोकन वितरित किये गये। वही विकासखण्ड पानसेमल के ग्राम ओसवाड़ा में 156, पिपलोद में 152, टेमला में 151, तो सबसे कम जूनापानी एवं चिचवानी में क्रमशः 15 एवं 14 टोकन बांटे गये। विकासखण्ड सेंधवा में टोकन बांटने वाले केन्द्रों की संख्या 112 तो विकासखण्ड पानसेमल में टोकन बांटने वाले केन्द्रों की संख्या 39 थी। दोपहर 1 बजे तक हो चुका था 50 प्रतिशत वोटिंग जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी अनुसार दोपहर 1 बजे तक विकासखण्ड सेंधवा की ग्राम पंचायतो में औसत रूप से 43.6 प्रतिशत तथा विकासखण्ड पानसेमल की ग्राम पंचायतो में 52.80 प्रतिशत मतदान हो चुका था । इसके पश्चात् भी अधिकांश मतदान केन्द्रो पर लम्बी-लम्बी कतारे लगी थी ।

छाया-पानी, व्हील चेयर की रही व्यवस्था प्रथम चरण में विकासखण्ड पानसेमल एवं सेंधवा के 557 मतदान केन्द्रों पर हुए मतदान के दौरान मतदाताओं को छाया, पानी एवं व्हील चेयर की सुविधा भी उपलब्ध कराई गई थी। व्हील चेयर सुविधा का लाभ दिव्यांगजनों एवं वृद्धजनों ने अपने परिवार के सदस्यों या मतदान केन्द्र पर नियुक्त सहयोगी कर्मी के माध्यम से लिया।

नशे से आजादी पखवाड़े के तहत छात्राओं ने बनाई मानव श्रृंखला

बड़वानी। नशे का दुरुपयोग एवं अवैध व्यापार रोकने के लिए अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस के तहत 12 से 26 जून तक जिले में भी नशे से आजादी पखवाड़े का आयोजन, जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वाधान में किया जा रहा है। इसी कड़ी में विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में गतिविधियां आयोजित की जा रही है, जिसके तहत आशा ग्राम ट्रस्ट द्वारा संचालित आशा इंस्टिट्यूट ऑफ नर्सिंग में पैरामेडिकल नर्सिंग छात्राओं के द्वारा मानव श्रृंखला बनाकर नशे से मुक्ति की अलख जगाई।

ट्रस्ट के सचिव डॉ शिवनारायण यादव ने बताया नशा एक अभिशाप है तथा इसके भयावह परिणाम नशे के आदी व्यक्ति के साथ-साथ उसके संपूर्ण परिवार को भोगने होते हैं। यह आर्थिक, सामाजिक, पारिवारिक विघटन का सबसे बड़ा कारक है। इस दौरान श्री मणीराम नायडू, श्री अभय सावनेर, श्रीमती मंजु जैकब, डॉक्टर संजय राठौर सहित नर्सिंग छात्राएं उपस्थित थी।

प्रथम चरण में तीन जनपदों के 582 मतदान केंद्रों पर हुआ शांतिपूर्ण मतदान,कलेक्टर एसपी ने लगातार की निगरानी

खरगोन। त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन के तहत जिले की तीन जनपदों में शनिवार को प्रथम चरण का मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा। मतदान सुबह 7 बजे से प्रारम्भ हुआ और शुरुआत से ही मतदान केंद्रों पर लंबी-लंबी कतारें देखने को मिली। मतदान केंद्रों पर स्पष्ठ रूप से महिलाओं में मतदान के प्रति जागरूकता नजर आयी। जिला निर्वाचन अधिकारी श्री कुमार पुरुषोत्तम भी लगातार मतदान केंद्रों का भ्रमण करते रहे। उन्होंने सुबह से सेगांव जनपद के मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया। वे बिरला, सेंगाव, लेहकू और तलकपुरा तथा भगवानपुरा के बागदरी मतदान केंद्र सहित कई मतदान केंद्रों का अवलोकन कर पीठासीन अधिकारियों से मतगणना की तैयारियों की जानकारी भी लेते रहें।

बिना पर्ची के मतदान केंद्र में बैठे अभिकर्ता को बाहर किया

कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी श्री कुमार जब बिरला ग्राम पंचायत में निरीक्षण के लिए पहुँचे तो मतदान केंद्र में अभिकर्ता ने परिचय पत्र नहीं लगाया हुआ था। यह देख कलेक्टर श्री कुमार ने परिचय पत्र मांगा लेकिन दिखा नहीं पाया। कलेक्टर श्री कुमार ने तुरंत मतदान केंद्र के बाहर कराया और पीठासीन अधिकारी को बिना परिचय पत्र के मतदान केंद्र में नहीं बैठाने के निर्देश दिए

पुलिस अधीक्षक श्री यादव ने दुर्गम पहाड़ी मतदान केंद्रों पर पर रखी नजर

पुलिस अधीक्षक श्री धर्मवीरसिंह यादव ने जिले की दुर्गम पहाड़ी जनपदों झिरन्या और भगवानपुरा में होने वाले मतदान पर नजर रखी। उन्होंने सुबह 7 बजे से ही मदनी खुर्द के बाद धुलकोट, भगवानपुरा, बाड़ी, भग्यापुर, मोहनपुरा, मुंडिया, चिरिया, दामखेड़ा, झिरन्या, चौनपुर, आभापुरी, शिवना काबरी, पुनासला, गोराडिया, साका, नहालदरी सहित अन्य मतदान केंद्रों के बाहर लगी भीड़ को हटाने के अनाउंसमेंट किया।

लोकतंत्र का मान बढाने में किया योगदान

तृतीय चरण के मतदान के दौरान कई वृद्ध जन मतदाताओं ने अपना-अपना मतदान तो किया ही। इनके अलावा ऐसे मतदाता भी मतदान केंद्रों तक पहुँचे जो वर्षों से लकवे से पीड़ित है। लेकिन उन्होंने मतदान के प्रति अपनी जीवटता दिखाई। सेंगाव के 72 वर्षीय ताराचंद अग्रवाल और झिरन्या मतदान केंद्र में भी एक लकवे से पीड़ित मतदाता ने अपने मत का उपयोग किया।

सुबह से बढ़ती गई मतदाताओं की कतारें

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित समय पर ही सुबह 7 बजे से मतदान प्रारम्भ हुआ। सुबह से ही मतदान केंद्रों पर लंबी-लंबी कतारें देखी गई। मतदान केंद्रों पर होने वाले मतदान प्रतिशत के लिए बनाए गए कम्युनिकेशन प्लान से प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह 9 बजे तक सेगांव जनपद में 10.9 प्रतिशत, भगवानपुरा में 13.9 प्रतिशत और झिरन्या में 8.1 प्रतिशत मतदान हुआ। इसी तरह सुबह 11 बजे तक सेगांव में 25.68 भगवानपुरा में 46.45 और झिरन्या में 29.14 प्रतिशत मतदान किया गया था। इसके बाद दोपहर 1 बजे तक सेंगाव जनपद में 40.87, भगवानपुरा में 53.04 और झिरन्या में 48.16 प्रतिशत मतदान किया गया। वही दोपहर 3 बजे तक सेगांव जनपद में 66.66, भगवनपुरा में 69.86 और झिरन्या में 65.83 प्रतिशत मतदान हुआ

मतदान समाप्ति के बाद मतगणना की व्यवस्थाएं देखी

मतदान समाप्ति के बाद कलेक्टर श्री कुमार और एसपी श्री यादव ने भगवानपुरा जनपद के कई मतदान केंद्रों पर मतगणना की जानकारी लेने पहुँचे। इस दौरान कलेक्टर श्री कुमार ने धुलकोट, काबरी, भुलवानिया के मतदान केंद्रों पर मतगणना के मापदंड बताते हुए व्यवस्था कराई। साथ ही मतपत्रों को एकत्रित करने के तरीके तथा गणना के तरीकों के बारे में बताया। इसके अलावा भुलवानिया के मतदान केंद्र पर अत्यधिक संख्या में लोगों की भीड़ को देख मतदान केंद्र से दूरी बनाने के निर्देश दिए। पुलिस बल ने मतदान केंद्र के आसपास मौजूद नागरिकों को खदेड़ा भी।

1 जुलाई से करना होगा कपड़े की थैली का उपयोग

नगर पालिका परिषद् खरगोन तथा सहयोगी संस्था ओम साईं विज़न की टीम द्वारा समस्त दुकानदारों एवं नागरिकों को 1 जुलाई 2022 से सिंगल यूज़ प्लास्टिक प्रतिबंध की जानकारी दी गयी। टीम द्वारा सिंगल यूज़ प्लास्टिक पुर्णतः प्रतिबंधित हैं। इस बारे में समस्त नागरिको एवं बाजारों में दुकानदारों को कपडे की थैली का उपयोग करने समझाइस दी गई। वहीं टीम द्वारा सिंगल यूज़ प्लास्टिक का उपयोग करते हुए पाए जाने पर दण्डात्मक कार्यवाही के बारे में भी जानकारी दी गयी।

नगरपालिका सीएमओ श्रीमती प्रियंका पटेल के निर्देशानुसार तथा स्वास्थ अधिकारी श्री प्रकाश चित्ते के मार्गदर्शन में सहयोगी संस्था ओम साई विज़न की टीम द्वारा आम नागरिकों को सिंगल यूज़ प्लास्टिक का उपयोग ना करते हुए कपडे की थैली का उपयोग करने के लिए समझाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!