निवाली महाविद्यालय मे तीन दिवसीय युवा उत्सव कार्यक्रम संपन्न

निवाली। शासकीय महाविद्यालय में उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार निवाली महाविद्यालय में तीन दिवसीय युवा उत्सव कार्यक्रम संपन्न हुआ, जिसमें महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य प्रो अशोक चौहान ने विद्यार्थियों को प्रेरित करते हुए कहा कि युवा उत्सव युवाओं के लिए है इसलिए युवा उत्सव के कार्यक्रम का संचालन एवं प्रबंधन भी आप लोगों को ही करना चाहिए जिससे आप लोगों में नेतृत्व क्षमता का विकास होगा।

युवा उत्सव में २२ विधाएं होती है जो आपके अंदर छिपी हुई प्रतिभा को निखारने का अवसर प्रदान करती है,इसलिए आप लोगों को अधिक से अधिक विधाओं में भाग लेकर उत्कृष्ट प्रदर्शन करना चाहिए।

प्राचार्य महोदय की बातों से प्रेरित हो कर विद्यार्थियों ने बढ़ चढ़कर विभिन्न विधाओं में भाग लिया और अपनी प्रस्तुतियों से सबका मन मोह लिया।कार्यक्रम का संचालन महाविद्यालय की प्रोफेसर चांदनी गोले ने किया।

युवा उत्सव को सफल बनाने के लिए युवा उत्सव समिति के सदस्य डॉ फूलचंद किराडे, प्रोफेसर अनार सिंह किराड़े, डॉ सुधा टेटवाल एवं श्रीमति शारदा खरते ने पूर्ण सहयोग दिया।युवा उत्सव में स्थानीय संस्कृति एवं पड़ोसी राज्य राजस्थान की संस्कृति की झलक दिखाई दी निवाली क्षेत्र आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण विद्यार्थियों की रग – रग में आदिवासी नृत्य भरा है, जिसका यहां के विद्यार्थियों में मनमोहक प्रस्तुति देकर निमाड़ की मिसाल प्रस्तुत की पड़ोसी राज्य राजस्थान को रंगीला प्रदेश कहा जाता है उसकी झलक नृत्य में दिखा छात्र छात्राओं ने राजस्थानी वेशभूषा की व्यवस्था करते हुए रंग-बिरंगी वेशभूषा में नृत्य के साथ अपनी छाप छोड़ी, शास्त्रीय नृत्य मे भी विद्याथी पीछे नहीं रहे कुछ छात्र छात्राओं ने शास्त्रीय नृत्य की निर्धारित वेशभूषा में शास्त्रीय नृत्य किया जो कि बेहद आकर्षक था वाद-विवाद भाषण प्रश्न मंच रंगोली पोस्टर निर्माण आदि में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।

हिमांशु मालाकार की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!