21 वीं सदी के कौशल एवं महिलाओं के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण विषय पर कार्यशाला संपन्न

निवाली। शासकीय महाविद्यालय निवाली में मंगलवार को माननीय मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार 21वीं सदी के कौशल एवं महिलाओं के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण अभियान के तहत कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि एवं विशेष वक्ता के तौर पर शामिल हुई सेंधवा एसडीएम तपस्या परिहार ने अपने उद्बोधन में कहा कि समाज हम सब से मिलकर ही बना है इसीलिए बदलाव की शुरुआत खुद से और अपने आसपास के परिवेश से करें, तभी हम एक बेहतर समाज का निर्माण कर पाएंगे।

महिलाओं को चाहिए कि वह स्वयं को हर तरह से सक्षम बनाएं ताकि उसे अपने अधिकार और प्रतिष्ठा से वंचित न रहना पड़े। महिलाओं को सुरक्षित वातावरण प्रदान करने में पुरुषों की भूमिका महत्वपूर्ण होती है, उन्हें अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाना चाहिए। परेशानियां और संघर्ष सभी के जीवन में होता है,जो इनसे लड़ता है वही आगे बढ़ पाता है।महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य प्रो. अशोक चौहान ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे समाज में महिलाओं की महत्वपूर्ण भागीदारी है और उनके प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। इसकी शुरुआत हमें अपने घर-परिवार से करनी चाहिए।

कार्यशाला प्रभारी प्रो.चांदनी गोले ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए कहा कि महिलाओं को अच्छा वातावरण मिलना और उनके प्रति सम्मानजनक दृष्टि रखना एक अच्छे समाज के विकास का सूचक है। कार्यशाला में एसडीएम तपस्या परिहार द्वारा सत्र 2021- 22 में आयोजित युवा उत्सव के विजेताओं को प्रशस्ति पत्र व पुरस्कार भी प्रदान किए गए।

कार्यकम के अंत में सभी के प्रति आभार रसायनशास्त्र विभागाध्यक्ष डॉ.के. तावड़े ने व्यक्त किया। कार्यक्रम में महाविद्यालयीन स्टॉफ सहित विद्यार्थियों ने अपनी सहभागिता सुनिश्चित की।

हिमांशु मालाकार की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!